हवा के झोकें

हवा के झोकों से खुली यादों की खिड़कियां कुछ अलग  ही दास्ताँ बयां करती है।  बीते हुए पलों के पन्नों ऐसे खोल जाती है की आप उनमे भीगे बिना  नहीं रह पाते।  उस हवा  के झोकों के संग अठखेलियां करती हुई वो   यादें और एहसास इंसान को उसी समय में खीच कर ले जाती है... Continue Reading →

Blog at WordPress.com.

Up ↑